यज्ञ के भंडारे में दबिश देकर डिस्पोजल, पत्तल, कटोरी और गांजा बटोर ले गये एसडीएम, गुस्साये साधुओं ने भगवान की मूर्ति लेकर सड़क पर शुरू किया धरना

IMG-20200820-WA0008
IMG-20200831-WA0002
IMG-20200831-WA0003
IMG-20210112-WA0003
IMG-20210509-WA0000

उरई। कोंच में एसडीएम की तेजतर्रार कार्यशैली साधुओं के उनके खिलाफ भगवान को साथ लेकर सड़क पर उतर आने से भारी पड़ गई। भड़के साधुओं ने चक्का जाम कर दिया जिससे पूरा प्रशासन सांसत में फंस गया।
कोंच के एसडीएम गुलाब सिंह ईमानदारी के साथ दो टूक कार्यशैली के लिए चर्चित हैं जिसके कारण उनका कई बार लोगों से पंगा हो चुका है। शुक्रवार को उनके तहसील क्षेत्र में झलापाठा में यज्ञ के समापन पर भंडारा चल रहा था। जहां अचानक एसडीएम लाव लश्कर के साथ पहंुच गये। उन्होंने तलाशी लेकर भंडारे में इस्तेमाल हो रहे प्लास्टिक के पत्तल गिलास जब्त कर लिये। इतना ही नहीं मौके पर उन्हें साधुओं का गांजा भी हाथ लग गया। एसडीएम इस गैर कानूनी नशे को भी जब्त करने से नहीं चूके।
एसडीएम के साहस से बौखलाये साधुओं ने मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए उग्र विरोध प्रदर्शन कर डाला। साधु देवताओं की मूर्ति के साथ सड़क पर धरना देकर बैठ गये जिससे चक्का जाम हो गया। तनाव बढ़ने की आशंका से घबराये कोंच क्षेत्र के सीओ शीशराम भारी पुलिस फोर्स के साथ मौके पर हैं और साधुओं का गुस्सा शांत करने की कोशिश कर रहे हैं।