डीएम की पहल: मगरौल में जूनियर हाईस्कूल को उच्चीकृत कर हाईस्कूल बनाने का भेजा प्रस्ताव

IMG-20200820-WA0008
IMG-20200831-WA0002
IMG-20200831-WA0003
IMG-20210112-WA0003
IMG-20210509-WA0000

 

मगरौल के बच्चों को कक्षा आठ के बाद गांव में ही मिलेगी शिक्षा

उरई। मगरौल में पुलिस ट्रेनिंग सेंटर का उद्घाटन करने आ रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पहले यहां जूनियर हाईस्कूल को जिलाधिकारी की पहल से उच्चीकृत करने का प्रस्ताव शासन को भेज दिया गया है लेकिन मुख्यमंत्री से उच्चीकृत किए जा रहे स्कूल का फीता कटवाने की तैयारी प्रशासन ने कर ली है।

मगरौल जैसे गांव के लिए हाईस्कूल तक की शिक्षा अब गांव में ही होगी। अब तक यहां के बच्चे कक्षा आठ के बाद मगरौल से कालपी में शिक्षा प्राप्त करने आते थे। जिलाधिकारी डा. मन्नान अख्तर पुलिस ट्रेनिंग स्कूल का निरीक्षण करने गए तो उन्होंने वहां के जूनियर हाईस्कूल का भी निरीक्षण किया जहां उन्होंने विद्यालय के बच्चों से बात की तो बच्चों ने अपनी पीड़ा जिलाधिकारी के समक्ष रखी। बच्चे व बच्चियों को चार से पांच किलोमीटर प्रतिदिन कक्षा आठ के बाद कालपी आना जाना पड़ता था। जिलाधिकारी ने तत्काल प्रभाव से डीआईओएस से विद्यालय को उच्चीकृत करने का फरमान सुना दिया। यही नहीं विद्यालय के उच्चीकृत का फीता उसी समय काटा जाएगा जब मुख्यमंत्री पुलिस ट्रेनिंग सेंटर का उद्घाटन का फीता काटेंगे। हालांकि मुख्यमंत्री के आने की तिथि निर्धारित नहीं हुई है लेकिन प्रशासन के द्वारा यह कहा जा रहा है कि जून के अंत तक मुख्यमंत्री का कार्यक्रम पक्का हो सकता है।