साहब जरा यहां भी देखलो, सड़क को आंगन बनाकर छोड़ेंगे ये

IMG-20210112-WA0003

माधौगढ़-उरई। अतिक्रमण हटाओ अभियान चंद दिनों की तेजी के बाद अब ठंडा पड़ता नजर आ रहा है। हालांकि जिलाधिकारी के आदेश पर अतिक्रमण हटाओ अभियान जिस तूफानी ढ़ंग से चलाया गया था उससे वर्षो से कब्जा जमाये जो मठाधीश सड़क को अपनी जागीर समझने लगे थे उनका गुरूर आसमान से जमीन पर आ गया था पर यह अभियान अपनी तार्किक परिणति पर पहुंचने के पहले ही ठंडे बस्ते में पड़ता नजर आ रहा है।
इसके साथ ही ऐसे सवाल सामने आने लगे हैं कि लोगों को अतिक्रमण हटने से जो सहूलियत मिली है वह कब तक रहेगी। यह भी देखना होगा कि कुछ महत्वपूर्ण स्थानों पर कायम अतिक्रमण पर अधिकारियों की या तो नजर नहीं गई है या फिर दबंगों की पहुंच और हैसियत के आगे उनका रसूख फीका पड़ गया है। ऐसी ही एक नजीर देखने को मिलती है माधौगढ़ से ऊमरी की तरफ मुड़ने वाले रास्ते की तरफ जहां एक दुकानदार ने इस कदर अतिक्रमण रख कर रखा है कि सैकड़ों दुर्घटनाएं होने के बावजूद किसी अधिकारी की हिम्मत नहीं हुई कि आधी रोड तक कब्जा किए बैठे इन महाशय का सामान यथास्थान पहुंचाया जा सके। आलम यह है कि उक्त दुकानदार लोक निर्माण विभाग की सड़क तक टीन शेड लगाए हुए हैं और उसके बाद भी जो जगह बचती है वहां अपने ग्राहकों के ट्रैक्टर ट्राली खड़े कराने से नहीं चूकते जिनमें दिन भर सामान की आवाजाही बनी रहती है और राहगीरों को भारी कठिनाई का सामना करना पड़ता है।
ऐसे में देखना होगा कि अपनी तेजतर्रार शैली से कुछ न कुछ करके चर्चाओं में रहने वाले नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी कब तक इन पर मेहरबानी करते रहेंगे या इनके खिलाफ भी उनकी निगाह टेढ़ी होगी। इसके साथ ही नगर क्षेत्र के चारों और कई स्थानों पर लोग आम रास्ते में ही मौरम का डंप किए है। इसे हटवाने के लिए कब तक कोई कार्रवाई होगी देखना होगा।