यमुना के बढ़ते जल स्तर को देख एसडीएम ने बाढ़ चौकियों को दिए सतर्क रहने के निर्देश

IMG-20210112-WA0003
>
कालपी। उपजिलाधिकारी कालपी भैरपाल सिंह ने यमुना के बढ़ते जल स्तर को देखते हुए आज कालपी के यमुना नदी के किनारे पहुंचकर बाढ़ का अवलोकन किया तथा बाढ़ चौकियों को सतर्क रहने के निर्देश दिए।
मंगलवार की शाम चार बजे उपजिलाधिकारी भैरपाल सिंह ने कालपी के यमुना नदी के किनारे पहुंचकर बाढ़ का अवलोकन किया तथा केंद्रीय जल आयोग के कर्मचारी हरदयाल से दूरभाष पर वार्ता करके बाढ़ की स्थिति की जानकारी ली। हरदयाल ने बताया कि कोटा राजस्थान बांध से पानी छोड़े जाने के चलते यमुना का जल स्तर ढाई मीटर बड़ा है। कल रात्रि में पच्चीस सेंटीमीटर प्रति घंटा के हिसाब से जल स्तर बढ़ रहा था जोकि आज पंद्रह सेंटीमीटर प्रति घंटा के हिसाब से बढ़ रही है। अभी यमुना का जल स्तर और बढऩे की संभावना है। यमुना का जलस्तर 98.120 सेंटीमीटर दर्ज किया गया जबकि खतरे का निशान 106 सेंटीमीटर है। हालांकि उपजिलाधिकारी भैरपाल सिंह ने कालपी, महेवा, पाल, जीतामऊ सहित सभी बाढ़ चौकियों को सतर्क रहने के निर्देश जारी कर दिए हैं तथा लेखपालों व कानूनगो को भी सर्तक रहने के निर्देश दिए हैं।