नगर में बीती रात मुखबिर की सूचना पकड़े गए जुआरियों को छोडऩे में पुलिस द्वारा रकम वसूलने की चर्चाएं

IMG-20200820-WA0008
IMG-20200831-WA0002
IMG-20200831-WA0003
IMG-20210112-WA0003
IMG-20210509-WA0000

 

कदौरा। पर पुलिस द्वारा आधा दर्जन से अधिक जुआरियों को दबोचकर जुआ एक्ट के तहत कार्रवाई की गई। वहीं कार्रवाई पूर्ण होने के बाद उक्त जुआरियों को छोडऩे में किसी वर्दीधारी द्वारा चोरीछिपे मोटी रकम वसूल की गई जो कि नगर में चर्चा का विषय बनी रही।

ज्ञातव्य हो कि कदौरा क्षेत्र में थानाध्यक्ष जितेंद्र द्वारा कुशल नेतृत्व में अपराधियों पर शिकंजा कसने के कार्य जारी है लेकिन पूर्व से थाने में टिके कुछ लालची वर्दीधारियों द्वारा अपराधियों से सांठगांठ व महीना बंदी कर अवैध धंधों को अंजाम दिलवाने के कार्य किया जा रहा है। बीती रात पुलिस द्वारा नगर में परौसा रोड से मुखबिर की सूचना पर आधा दर्जन से अधिक जुआरियों को दबोच लिया गया जिसमें मालफड़ व जामातलाशी कुछ मिलाकर बारह हजार छह सौ रुपए पुलिस द्वारा बताई गई। वहीं पुलिस द्वारा उक्त लोगों के खिलाफ रात में जुआ एक्ट के तहत कार्रवाई की गई। वहीं हर बार की तरह फिर किसी उपनिरीक्षक या अन्य वर्दीधारी द्वारा गु रूप से पकड़े गए जुआरियों के परिजनों को धमकाते हुए बीस हजार रुपए की व्यवस्था करने की बात कही गई। छह जुआरियों के परिवार से चंदा करके जब रुपया थाने पहुंचाया गया तब पुलिस द्वारा सुबह पांच बजे के लगभग उक्त जुआरियों को मुचलके पर छोड़ दिया गया। अब अवैध कमाई के लालची कुछ वर्दीधारियों की वजह से पूरा महकमा बदनाम है। कोई अपराध नियंत्रण को लेकर कार्रवाई कर रहा तो कोई अपराधियों से रिश्वत वसूल कर उनके हौसलों को बढ़ाने का काम कर रहा है। फिलहाल पुलिस द्वारा जुआरियों को पीटते हुए परिजनों को भयभीत कर छोडऩे के नाम पर मोटी रकम वसूल गई। उक्त मामले की जानकारी जब उपनिरीक्षक से चाही गई तो बताया कि जानकारी नहीं है। फिलहाल उक्त कार्यशैली नगर में चर्चा का विषय बनी हुई है कि क्षेत्र में पेशेवर लाखों के जुआ महीना बंदी की वजह से नहीं पकड़े जाते हैं। पुलिस को छोटे फड़ों के साथ साथ बड़े लाखों के जुआ फड़ों पर भी कार्रवाई करना चाहिए।

 

 

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments