मछली ठेकेदार की कारतूत से बर्बादी की कगार पर खड़े हो गये किसान

IMG-20210112-WA0003

उरई। मछली ठेकेदार की मनमानी के कारण किसानों को अपनी मेहनत की बर्बादी का तमाशा देखना पड़ रहा है। अनुसूचित जाति वर्ग के इन किसानों ने गुरुवार को सामूहिक रूप से जिलाधिकारी को प्रार्थना पत्र देकर उनकी फसल बचाने और मछली ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई करने की गुहार लगाई।
मामला डकोर ब्लाक के उसरगांव का है। जहां पर मछली ठेकेदार सलीम ने पटटा करा रखा है जिसके बगल से अनुसूचित जाति के लखनलाल, शशि कुमार, महेंद्र प्रताप, धूराम, जितेंद्र कुमार, लेखराज सिंह, महावीर प्रसाद, नृपेंद्र, बाबू आदि के खेत हैं। मछली ठेकेदार ने गांव के पानी की निकासी रोक रखी है। जिससे किसानों की फसल कई बार डूबकर बर्बाद हो चुकी है। यहां तक कि मकान भी खतरे के जद में आ गये हैं।
किसानों के मुताबिक तालाब की पुलिया भी ठेकदार ने बंद कर दी है। जिससे संकट की विकरालता और बढ़ गई है। उन्होंने जिलाधिकारी से ऐसी हालत में मछली ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई और अपनी फसल बचाने की मांग की।