पूर्व मंत्री डा.गोविन्द सिंह ने रसाल सिंह के धरने का किया स्वागत

20191128_121956
IMG-20200820-WA0008
IMG-20200831-WA0002
IMG-20200831-WA0003

 

 

अवैध खनन के खिलाफ नदी बचाओ यात्रा निकालेगी कांग्रेस: डॉ. गोविंद सिंह
मध्यप्रदेश के भिण्ड जिले में रेत के अवैध उत्खनन और परिवहन का विरोध करते हुए ध्रना देने पर भाजपा के पूर्व विधायक रसाल सिंह को पूर्व मंत्री एवं लहार विधायक डॉण्गोविंद सिंह ने धन्यवाद देते हुए तंज कसा है। डाक्टर सिंह ने एक पत्र जारी कर कहा कि  रेत के अवैध उत्खनन का विरोध करने पर रसाल सिंह का धन्यवाद।
इस सम्बन्ध में पूर्व मंत्री डाक्टर गोविन्द सिंह की ओर से अधिकृत बयान जारी करते हुए मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव खिजर कुरैशी ने बताया कि भाजपा के पूर्व विधायक रसाल सिंह देर आए द1रुस्त आए। उनके द्वारा रेत के अवैध उत्खनन और परिवहन को लेकर धरना दिया जाना इस बात का प्रमाण है कि मेरे द्वारा जो आरोप पिछले लम्बे समय से लगाए जा रहे हैं वह प्रमाणिक हैं। डाक्टर गोविन्द सिंह ने कहा कि रसाल सिंह भी सरकार की गलत खनिज नीतियों के विरोध में शासन-प्रशासन के खिलाफ मटियाबली रेत खदान पर धरने पर बैठे, हम उनका स्बागत करते हैं और अपेक्षा करते हैं कि वह हमारे नदी बचाओ अभियान का हिस्सा बनें। डाक्टर गोविन्द सिंह ने कहा कि सिंध-चम्बल आदि नदियों का बेरहमी से शिवराज शासन पनडुब्बियां लगाकर दोहन कर रही है। पूरे जिले में इससे जल स्तर 40-50 फीट तक घट गया है। आगामी बर्षो मैं ग्रामीण अंचलों में घोर पेयजल संकट होने बाला हैं, लेकिन सरकार का ध्यान इस गंभीर समस्या की ओर नही है।
डाक्टर सिंह के हवाले से कांग्रेस के प्रदेश महाचिव खिजर कुरैशी ने बताया कि आगामी सप्ताह में जल बचाओ-नदी बचाओ यात्रा डॉ गोविंद सिंह के नेतृत्त्व में शुरू होने बाली हैंए जिसमे देश प्रदेश की महान हस्तियां यात्रा में शामिल होगी।
सितंबर में नदी बचाओ यात्रा
कुरैशी ने बताया कि डॉ.गोविंद सिंह की यात्रा राजनीतिक नहीं है। 15 अगस्त को उन्होंने अवैध खनन को लेकर उपवास किया था, जिसके बाद अवैध खनन और बढ़ गया। जिसको लेकर डॉ.गोविंद सिंह एक बार फिर सितंबर माह में सिंध और चंबल नदी को रेत माफिया से बचाने के लिए नदी बचाओ यात्रा करेंगे।
कुरैशी ने बताया कि यात्रा की तारीख अभी तय नहीं की गई है, लेकिन ये बात तय है कि यात्रा सितंबर महीने में शुरू होगी। जो तीन दिन भिंड जिले में रहेगी, उसके बाद तीन दिन तक चंबल नदी के किनारे से यात्रा गुजरेगी, उसके बाद यात्रा एक दिन भिंड जिले के उमरी से लेकर रोन तक जाएगी। यात्रा दो दिन दतिया में रहेगी। पूरी यात्रा चंबल और सिंध नदी के किनारे से गुजरेगी। यात्रा का मकसद अवैध खनन रोकना है।
0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments