रंगबाजी को लेकर हुए विवाद में फायर करने वाला मुख्य आरोपी पकड़ा ,आठ में चार युवकों की गिरफ्तारी होना शेष

20191128_121956
IMG-20200820-WA0008
IMG-20200831-WA0002
IMG-20200831-WA0003

 

जालौन। ग्यारह दिन पूर्व रंगबाजी को लेकर दो समुदाय के युवकों के बीच हुए विवाद के मामले में कोतवाली पुलिस ने तमंचे से फायर करने वाले मुख्य आरोपी को पकड़ लिया। पुलिस ने आरोपित के पास से तमंचा व दो कारतूस बरामद किए। पुलिस ने युवक को न्यायालय में पेश कर जेल भेजा। उक्त मामले में आरोपित आठ में चार युवकों की गिरफ्तारी होना और शेष है।
कोतवाली क्षेत्र के ग्राम छौलापुर निवासी अमन राजावत बाइक से अपने साथी प्रियांशु चौहान के साथ बीती 12 अगस्त की रात करीब आठ बजे दूध देने के लिए जालौन आ रहे थे। रास्ते में नहर के पुल के पास एक समुदाय विशेष के दो युवकों के साथ उनका रास्ते से निकलने को लेकर विवाद हो गया था जिसमें समुदाय विशेष के युवकों ने अपने साथियों को बुलाकर न सिर्फ दोनों लडक़ों के साथ मारपीट की थी बल्कि तमंचे फायर भी झोंक दिया था जिसके बाद मौके पर पहुंचे लोगों ने दो युवक हसनैन व कफील निवासीगण मोहल्ला चिमनदुबे को पकडक़र कोतवाली पुलिस को सौंप दिया था। उक्त मामले में अमन के भाई दीपक राजावत ने एक समुदाय विशेष के आठ युवकों के खिलाफ कोतवाली में मामला दर्ज कराया था जिनमें से आरोपित अनम निवासी चिमनदुबे को पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार किया था। रविवार को कोतवाल रमेश चंद्र मिश्र को सूचना मिली कि उक्त मामले का मुख्य आरोपी जिसने तमंचे से फायर किया था बिलाल निवासी मोहल्ला तोपखाना कहीं बाहर भागने की फिराक में चुर्खी रोड पर खड़ा है। सूचना मिलते ही कोतवाल चौकी प्रभारी संजीव दीक्षित, एसआई देशराज सिंह व हमराहियों के साथ मौके पर पहुंच गए जहां पुलिस ने घेराबंदी कर आरोपित बिलाल को पकड़ लिया। तलाशी लेने पर पुलिस ने आरोपित के पास से एक अदद तमंचा के साथ एक जिंदा व एक खोखा करातूस बरामद किया। पुलिस ने अरोपित के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उसे न्यायालय में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया। कोतवाल रमेश चंद्र मिश्र ने बताया कि अराजकता कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। शेष चार आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार प्रयासरत है। शीघ्र ही बचे हुए आरोपियों की भी गिरफ्तारी की जाएगी।
0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
1 Comment
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
अशोक मिश्र
अशोक मिश्र
1 month ago

तुम लोगों की औकात नहीं है मुस्लिम लिखने की ।
जो एक विशेष समुदाय करते रहते हो ।