ठगी करने एवं रुपया वापस मांगने पर मारपीट के मामले में न्यायालय के आदेश पर मामला दर्ज

20191128_121956
IMG-20200820-WA0008
IMG-20200831-WA0002
IMG-20200831-WA0003
जालौन। प्राइवेट आईटीआई खुलवाने के नाम पर 75 लाख रुपए की ठगी करने एवं रुपया वापस मांगने पर गालीगलौज, मारपीट व जान से मारने की धमकी देने की शिकायत पर न्यायालय के आदेश पर आरोपितों के खिलाफ कोतवाली में मामला दर्ज किया गया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला चौधरयाना निवासी अरूण कुमार वर्मा ने न्यायालय में वाद दायर कर आरोप लगाया था कि उन्हें नगर में छात्रों को शिक्षा दिलाने के लिए प्राइवेट आईटीआई विद्यालय खोलना था जिसके लिए उन्होंने साईंराम आईटीआई कालेज के प्रबंधक डा$ अवनीश दुबे निवासी भगवतीगंज दिबियापुर जिला औरैया से सलाह मशवरा किया और 16 अक्टूबर 2015 को स्टाम्प पर लिखापढ़ी कर तय किया गया कि वह अरूण कुमार वर्मा के मौजा प्रतापपुरा में सारंगपुर बाईपास के पास स्थित खेत में आईटीआई खोलेंगे जिसमें अरूण कुमार वर्मा व डा$ अवनीश के बीच क्रमश: 80 और 20 फीसदी की साझेदारी रहेगी। इसके बाद मान्यता दिलाने के नाम पर डा$ अवनीश ने उनसे 25 लाख रुपये ले लिए। मान्यता लेने में जो एनजीआे की कापी लगाई गई उसमें धोखाधड़ी कर डा$ अवनीश ने अपने परिचितों को विभिन्न पद आवंटित कर दिए और स्वयं संस्था के प्रबंधक बन बैठे। इसके बाद उन्होंने अपने खास व्यक्तियों को प्राचार्य और कम्यूटर आपरेटर के पद पर नियुक्त कर दिया जिसमें संस्था के सामान और फर्नीचर के नाम पर पुन: उन्होंने 20 लाख रुपये उनसे लिए लेकिन संस्था में पुराना और टूटा फूटा सामान व फर्नीचर भेज दिया। उन्होंने राज्य व्यवसायिक प्रशिक्षण परिषद उत्तर प्रदेश की बेबसाइट पर संस्था के कागजातों में हेराफेरी कर प्राचार्य करन सिंह की फोटो प्रबंधक के रूप में प्रदर्शित करवाई तब उन्हें अपने साथ हुई धोखाधड़ी का पता लगा लेकिन तब तक उक्त अवनीश व उनके खास व्यक्ति प्राचार्य करन सिंह निवासी ग्राम पनेहरा, क्लर्क अरिमर्दन सिंह निवासी पुरानी नझाई, विनोद कुमार व राजू निवासीगण ग्राम फरीदपुर थाना औरैया, विजय गुप्ता निवासी राणानगर दिवियापुर ने मिलकर उनके लगभग 75 लाख रुपये धोखाधड़ी कर हड़प लिए। अपने साथ हुई धोखाधड़ी की जानकारी होने पर उन्होंने डा$ अवनीश से जब रुपये वापस मांगे तो बीती 18 सितंबर को डा$ अवनीश व उनके उक्त सभी साथी उनके यहां आए और धमकी दी कि उन्होंने उनके रुपये हड़प लिए हैं आइंदा यदि वह विद्यालय में दिखाई दिए अथवा रुपये मांगे तो वह जान से मार देंगे। जब उन्होंने इसका विरोध किया तो उक्त सभी ने जातिसूचक गालियां देकर उनके साथ मारपीट भी कर दी। इसके बाद शिकायत करने पर जान से मारने की धमकी देकर वहां से भाग गए जिसकी शिकायत उन्होंने कोतवाली व पुलिस अधीक्षक से भी लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। उक्त मामले में न्यायालय ने कोतवाली जालौन पुलिस को आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज करने के निर्देश दिए थे। उक्त संदर्भ में कोतवाल रमेश चंद्र मिश्र ने बताया कि न्यायालय के आदेश पर आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। जो उचित होगा नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।
3 1 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments