चौबीस घंटे बाद भी नहर में डूबे मासूम का नहीं चला पता

IMG-20210112-WA0003
>
एट। सगी बहनों के साथ मामूरिया विसर्जन करने गए मासूम का पैर फिसल जाने से वह पानी में गया था। करीब चौबीस घंटे बीत जाने के बाद भी अभी तक मासूम का पता नहीं लग सका। वहीं पुलिस हरसंभव मासूम को ढूंढने की कोशिश में लगी हुई है। वहीं इकलौते पुत्र की जानकारी न मिलने की वजह से परिजनों में प्रशासन के खिलाफ आक्रोश पनप रहा है और परिजनों का रो रोकर बुरा हाल बना हुआ है। वहीं गोताखोरों को भी नहर में तेज बहाव की वजह से मासूम को ढूंढने में खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
बता दें कि शुक्रवार की दोपहर लगभग ग्यारह बजे के आसपास एट थाना क्षेत्र के ग्राम पिरौना निवासी शिवदयाल अहिरवार की पुत्रियां कविता, बबीता, मुस्कान और छोटे भाई सुभाष अहिरवार अमावस्या का त्यौहार होने की वजह से मामूरिया विसर्जन करने हमीरपुर शाख की नहर में गया हुआ था तभी अचानक विसर्जन करते समय सुभाष का पैर फिसल गया। नहर में अधिक पानी होने की वजह से मासूम तेज बहाव में बहने लगा। भाई को बहता हुआ देख तीनों बहनें चीखने चिल्लाने लगी। आवाज सुनकर आसपास के खेतों में काम कर रहे किसान और मजदूर दौड़ पड़े और मासूम की खोजबीन में जुट गए लेकिन पानी का बहाव होने की वजह से मासूम का पता नहीं चल सका। वहीं चौबीस घंटे से अधिक बीत जाने के बाद भी गोताखोरों की मदद से मासूम को पता नहीं लगा सकने की वजह से परिजनों के अंदर आक्रोश पनप रहा है। वहीं चौकी इंचार्ज पिरौना योगेश शर्मा ने जानकारी दी कि हमीरपुर शाख की नहर में पानी का तेज बहाव होने की वजह से गोताखोरों को मासूम को ढूंढने में भारी दिक्कतें सामने आ रही हैं। फिलहाल कोशिश की जा रही है जल्द ही मासूम ढूंढने का प्रयास किया जा रहा है।