नहीं निकलेगा इस बार जुलूस-ए-मोहम्मदी,सादगी के साथ मनाया जाएगा ईद मीलादुन्नबी का त्यौहर

20191128_121956
IMG-20200820-WA0008
IMG-20200831-WA0002
IMG-20200831-WA0003

*
कोंच। पैगंबरे इस्लाम हजरत मोहम्मद मुस्तफा सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के यौमे विलादत (जन्म दिवस) ईद मीलादुन्नबी के मौके पर 30 अक्टूबर को तंजीम गुलामाने मुस्तफा सोसायटी के जेरे एहतमाम व जेरे कयादत में निकलने बाला अजीमुश्शान जुलूस-ए-मोहम्मदी इस बार कोविड-19 संक्रमण में शासन की पाबंदियों के मद्देनजर नहीं निकाला जाएगा। इसी सिलसिले में तंजीम की एक बैठक हाफिज अताउल्ला खां गौरी की अध्यक्षता में उन्हीं के आवास पर सेकेट्री हाजी मोहम्मद अहमद के संचालन में संपन्न हुई। बैठक में सर्वसम्मति से फैसला लिया गया है कि इस बार जुलूस-ए-मोहम्मदी नहीं निकाला जाएगा।
सोसायटी के सदर हाफिज अताउल्ला खां गौरी ने कहा कि अम्नो शांति, मोहब्बत, भाईचारे का पैगाम देने वाले पैगंबरे इस्लाम हजरत मोहम्मद मुस्तफा की दी हुई तालीम पर अमल कर सादगी के साथ  ईद मीलादुन्नबी का जश्न मनाएं। जुलूस-ए-मोहम्मदी के अध्यक्ष सेठ मुमताज अहमद ने प्रशासन से मांग की है कि ईद मीलादुन्नबी के मौके पर नगर में साफ सफाई, बिजली पानी की व्यवस्था सुचारू रूप से की जाए। बैठक में हाजी सेठ नसरुल्ला, मास्टर तार्रुफ हुसैन, मोहम्मद उमर, अशफाक गौरी, काजी फहीमउद्दीन, सभासद समसुद्दीन मंसूरी, सभासद शकील मकरानी, सईद अहमद खन्ना, सैफउल्ला खां वटी, मोहम्मद शरीफ बरकाती आदि मौजूद रहे। वहीं मस्जिद जीनतुल इस्लाम के खतीबो इमाम हाफिज मोहम्मद साबिर बरकाती ने अपील की है आका के यौमे विलादत के मौके पर अपने घरों, मोहल्लों को सजाकर रोशन करें, जश्ने चरागां कर इबादत कर दरूदो सलाम नात रसूल का नजराना पेश कर अदबो एहतराम के साथ यौमे विलादत मनाएं।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments