डीएफओ के घर हुई करोड़ों रुपए की चोरी का एसओजी व कोतवाली पुलिस ने किया पर्दाफाश छप्पन लाख से अधिक की नगदी व जेवरात बरामद

20191128_121956
IMG-20200820-WA0008
IMG-20200831-WA0002
IMG-20200831-WA0003
IMG-20210112-WA0003
उरई। एसओजी, सर्विलांस और उरई कोतवाली पुलिस ने संयुक्त रूप से उप प्रभागीय वन अधिकारी के यहां हुई एक करोड़ से अधिक की चोरी का पर्दाफाश कर दिया। वारदात में शामिल चार आरोपियों को चोरी किए गए करोड़ों रुपए की नगदी व समान के साथ गिरफ्तार किया गया जिनके खिलाफ कार्रवाई करते हुए पुलिस ने उन्हें जेल भेज दिया।
पुलिस लाइन सभागार में मामले का खुलासा करते हुए पुलिस अधीक्षक डा. यशवीर सिंह ने बताया कि 29 जनवरी को उप प्रभागीय वन अधिकारी जगदेव सिंह के उरई के मोहल्ला नया पटेल नगर स्थित आवास से चोरी की एफआईआर कोतवाली दर्ज कराई गई थी जिसमें उन्होंने बताया था कि ज्वैलरी और नगदी सहित एक करोड़ से अधिक की नगदी चोरी हुई है जिसकी रिपोर्ट राजबहादुर सिंह, उसकी पत्नी रेखा और पुत्र हर्ष पर दर्ज कराई थी जो जगदेव सिंह के मकान में किराए पर रह रहे थे। मामला दर्ज होने के बाद सीओ सिटी संतोष कुमार के नेतृत्व में एसओजी, सर्विलांस, उरई कोतवाली पुलिस को खुलासे के लिए लगाया था जिस टीम ने कड़ी मशक्कत करते हुए इस चोरी में शामिल, हर्ष, रोहित, राजबहादुर और आशीष सोनी को गिरफ्तार किया है। इनको इस टीम ने शहर के कांशीराम कालोनी के पास से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने हर्ष और राजबहादुर की निशानदेही पर आशीष के पास से चोरी का 931.630 ग्राम सोना, 490.500 ग्राम चांदी बरामद की है। इसके अलावा पुलिस में 56 लाख 49 हजार 5 सौ रुपए की नगदी सभी आरोपियों के पास से बरामद की है। एसपी ने बताया कि जिनके घर में चोरी हुई है वह ललितपुर में उप प्रभागीय वन अधिकारी के पद पर तैनात हैं और वह शादी समारोह से लौट कर घर आए हुए थे तथा सोना चांदी जेवरात आदि घर पर रखकर नौकरी करने चले गए थे। इसी का फायदा हर्ष और राजबहादुर ने उठाया और अपने साथी के साथ मिलकर करोड़ों रुपए के जेवरात नकदी चोरी कर ले गए जिन्होंने अपने साथियों के साथ मिलकर धीरे धीरे बेचना शुरू कर दिया था जिससे एक स्विफ्ट गाड़ी खरीदी थी जिसको भी पुलिस ने बरामद कर लिया है। पकड़े गए आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें जेल भेजा जा रहा है। वहीं खुलासा करने वाली टीम को पचास हजार का पुरस्कार आईजी की तरफ से दिया जा रहा है। मामले का खुलासा करने वाली टीम में प्रभारी निरीक्षक सुधाकर मिश्रा, एसओजी प्रभारी प्रवीण कुमार, एसएसआई सुशील पारासर, सर्विलांस प्रभारी केवी सिंह सहित अन्य पुलिस कर्मी शामिल रहे
0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments