सडक़ों का काम अधूरा छोडक़र गायब हुई कार्यदाई संस्था त्वरित विकास योजना के तहत चयनित हुई चार सडक़ें

20191128_121956
IMG-20200820-WA0008
IMG-20200831-WA0002
IMG-20200831-WA0003
IMG-20210112-WA0003
जालौन। त्वरित विकास योजना के तहत नगर में चार सडक़ों का चयन किया गया था। लेकिन चयनित सडक़ों का निर्माण कार्य पूरा किए बिना ही कार्यदाई संस्था गायब हो गई है। काम पूरा न होने के कारण लोगों को परेशानी हो रही है।
पूर्व की सरकार में नगर की सडक़ों की दशा को सुधारने के लिए छह किमी सडक़ के निर्माण का कार्य शुरू हुआ था जिसमें चार सडक़ों को त्वरित विकास योजना के तहत चयनित किया गया था। बाइस करोड़ की लागत से बनने वाली सीसी सडक़ का काम आगरा के आरएस अग्रवाल को दिया गया था। वर्ष 2017 से शुरू हुआ काम वर्ष 2020 तक चला। तीन वर्ष काम होने के बाद भी छह किमी सडक़ का निर्माण कार्य पूरा नहीं हो पाया है। चुंगी नंबर चार से छोटी माता मंदिर तक एवं कांजी हाउस चौराहे के आसपास की सडक़ों पर अभी भी दोनों ओर नाली निर्माण का काम पूरा नहीं हुआ है। सडक़ों के आसपास अधूरी पड़ी नालियां व खुले पड़े पाइप लोगों के लिए परेशानी का सबब बने हुए हैं। इसके बाद भी संस्था काम अधूरा छोडक़र ही गायब हो गई है। त्वरित विकास योजना के तहत बन रही सडक़ों की निगरानी का काम लोकनिर्माण विभाग की प्रथम इकाई को करना था। काम अधूरा होने के बाद भी लोक निर्माण इससे अनजान बना हुआ है और विभाग की ओर से समयसीमा में काम को पूरा कराने के लिए प्रयास नहीं किया गया। सडक़ के मध्य में केबिल डालने के लिए मोटी पाइप लाइन डाली गई है। पाइप लाइन में बीच बीच में मेनहोल बनाकर उस पर ढक्कन लगाए गए हैं लेकिन इन ढक्कनों की फिटिंग ठीक नहीं है। कहीं ढक्कन ऊपर ही रखे हुए हैं तो कहीं ढक्कन मेनहोल के अंदर ही चले गए हैं जिसके चलते राहगीरों और वाहन चालकों को परेशानी होती है। नगर के महेश कुमार, लोकेंद्र सिंह यादव, राहुल उटगेरकर आदि ने मांग की है कि कार्यदाई संस्था को बुलाकर अधूरे पड़े निर्माण कार्य को शीघ्र पूरा कराया जाए ताकि लोगों को परेशानियों से निजात मिल सके।
0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments