कार से दोस्तों साथ गये युवक की संदिग्ध हालत मौत

IMG-20200820-WA0008
IMG-20200831-WA0002
IMG-20200831-WA0003
IMG-20210112-WA0003
IMG-20210509-WA0000
>
उरई । शहर कोतवाली क्षेत्र के मुहल्ला रामनगर निवासी कृष्णगोपाल निरंजन पुत्र स्व. जगदीश प्रसाद निरंजन ने आज शनिवार को अपने आवास पर आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान बताया कि विगत 29 अप्रैल 21 की रात्रि साढ़े आठ बजे उसके घर पर आर्यन पुत्र ज्ञानेश्वर निरंजन (लल्लू राजा) निवासी ग्राम दौलतपुर थाना एट हाल निवास रामनगर उरई एवं शिवम (बंटी)  पुत्र अनिल निरंजन निवासी ग्राम उसरगांव थाना जालौन हाल निवास अजनारी रोड अपनी कार नम्बर-यूपी 93 एवाई-9060 से आये और मेरे पुत्र सोमेन्द्र को यह कह कर लिवा ले गये कि एक घंटे के अंदर छोड़ जायेगे शिवम गाड़ी चला रहा था। पीड़ित ने बताया कि रात 12 बजे आर्यन को फोन लगाया तो आर्यन ने फोन नहीं उठाया इसके बाद फोन लगाया तो अस्पताल के कर्मचारियों ने फोन उठाया और बताया कि तुम्हारा पुत्र अस्पताल में है यह खबर मिलते ही वह अपनी पत्नी ऊषा देवी के अस्पताल पहुंचा तो डाक्टरों ने बताया कि तुम्हारे लड़के की मौत हो चुकी है।पीड़ित ने बताया कि कार सवार लोग मेरे पुत्र को मृत अवस्था में एट थाना क्षेत्र के पास डाल आये थे जबकि मेरे पुत्र आर्यन को जो लोग लिवा कर ले गये थे जिन्हें कोई चोटें तक नहीं आयी जबकि गाड़ी पूरी तरह से क्षतिग्रस्त थी। पीड़ित ने आरोप लगाया है कि मेरे पुत्र आर्यन को उसके जो साथी लिवा कर ले गये थे उन्होंने ही मिलकर उसकी मारपीट कर हत्या कर दी। मृतक के पिता कृष्णगोपाल ने का आरोप है कि इस घटना की लिखित तहरीर कोतवाल को दी गयी थी तो उनका कहना था पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मुकदमा लिखा जायेगा मगर आज तक घटना का मुकदमा कोतवाल के द्वारा नहीं लिखा गया। पीड़ित कृष्णगोपाल का आरोप है कि इसके बाद घटना की तहरीर 9 मई तथा 11 मई 21 को कोतवाल को दी गयी इसके बाद भी रिपोर्ट दर्ज नहीं की गयी। आज शनिवार को पीड़ित कृष्णगोपाल अपनी पत्नी ऊषा देवी के साथ न्याय पाने के लिये डीएम और एसपी को शिकायती पत्र देने पहुंचा तो दोनों अधिकारी अपने कार्यालय में नही मिल सके।