वैक्सीनेशन बढ़ाने के लिए खंड विकास अधिकारियों के पेंच कसे 

IMG-20210112-WA0003

 

उरई | जिलाधिकारी प्रियंका निरंजन की अध्यक्षता में कोविड-19 की  रोकथाम के संबंध में बैठक कलेक्ट्रेट कक्ष में सम्पन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने  निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष अभी तक वैक्सीनेशन के कार्य की गति धीमी पाये जाने पर कड़ी नाराजगी जाहिर की।  जिन-जिन ब्लाकों में वैक्सीनेशन किये जाने की प्रगति धीमी पायी गयी वहां के खण्ड विकास अधिकारियों  को प्रगति में तेजी लाये जाने के कड़े निर्देश दिये। उन्होने इसके लिये सभी खण्ड विकास अधिकारियों को प्रधानों के साथ ब्लाक स्तर पर बैठक आयोजित करने के लिए निर्देशित किया  की।

 जिलाधिकारी ने खण्ड विकास अधिकारी डकोर के वैक्सीनेशन का कार्य अच्छा पाये जाने पर उन्हें थप थपाते हुए और  तेजी लाने के  निर्देश दिये। उन्होने इसके लिये कहा कि लेखपाल, आंगनबाड़ी, आशा एवं प्रधान के साथ समन्वय स्थापित कर कार्यो में और अधिक तेजी लाये। उन्होने इसके लिये कहा कि सभी वैक्सीनेशन केन्द्रों पर वैक्सीनेशन कन्ट्रोल रूम बनाने को कहा   जो पल-पल की खबर से अवगत कराते रहे जिससे यह मालूम हो सके कि किन केन्द्रों में वैक्सीनेशन की प्रगति क्या चल रही हैं।

जिलाधिकारी द्वारा सभी खण्ड विकास अधिकारियों  को पांच – पांच गांव का भ्रमण कर आम जनमानस को  वैक्सीनेशन के लिये प्रेरित करने को कहा । जिलाधिकारी द्वारा मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया गया कि सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र/प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के प्रभारी चिकित्साधिकारियों  से वैक्सीनेशन की प्रगति के संबंध में प्रतिदिन जानकारी लेते रहे जिससे कोई भी समस्या उत्पन्न होती हैतो  उसका  तत्काल समाधान किया जा सके। जिलाधिकारी द्वारा सभी खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देशित किया गया  कि कम से कम 350 का लक्ष्य अवश्य पूर्ण किया  जाये। जिलाधिकारी ने  मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिया कि ब्लाकों में कितनी ग्राम पंचायत है तथा उसमें कितने व्यक्तियों को वैक्सीनेशन किया गया है इसकी सूची उपलब्ध कराये। उन्होने यह भी कहा कि प्रत्येक ब्लाक में  वैक्सीनेशन की प्रगति 500 से कम नही होनी चाहिये। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये। उन्होने यह भी निर्देश दिया कि जिन विकास खण्डों में वैकसीनेशन कम हो रहा है वहां की टीमें जन जागरूकता रैली निकाल कर लोगो को  जागरूक करें तथा अधिक से अधिक लोगो का वैक्सीनेशन करें। समस्त वैक्सीनेशन टीमों द्वारा पोर्टल पर डेटा अवश्य अपलोड किया जाये, ताकि आपके द्वारा किये जा रहे कार्यो की सही जानकारी प्राप्त हो सके। राजकीय मडिकल कालेज उरई के चिकित्सक द्वारा बताया गया कि कुल 07 मरीज भर्ती है, 03 आई0सी0यू0वार्ड में है, 01 नया मरीज भर्ती हुआ  है तथा 03 मरीज स्वस्थ्य होकर घर जा चुके हैं ।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डा0 अभय कुमार श्रीवास्तव, अपर जिलाधिकारी(वि0/रा0) पूनम निगम, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 ऊषा सिंह, अतिरिक्त मजिस्ट्रेट गुलाब सिंह, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 सत्यप्रकाश, जिला विकास अधिकारी सुभाष चन्द्र त्रिपाठी , डा मनोज वर्मा सहित कई  अधिकारी मौजूद रहे।