जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए अनुरागी और उर्मिला ने भरे पर्चे, बसपा के सदस्यों पर टिकी निगाहें

IMG-20210112-WA0003

पुष्पेन्द्र और पूनम ने अनुरागी के सेट पर किये हस्ताक्षर
उरई। मौसम की गर्मी के साथ राजनीतिक तपिश भी शिखर पर रही। शनिवार को जिला पंचायत अध्यक्ष के नामांकन के समय राजनीति पर दिलचस्पी रखने वाले तमाम लोग सांस रोके इंतजार कर रहे थे। भाजपा प्रत्याशी घनश्याम अनुरागी के मुकाबिल उर्मिला सोनकर खाबरी के नामांकन के साथ इस इंतजार का रोमांच चरम पर पहुंच गया।
अब इंतजार नामांकन पत्रों की जांच और नाम वापसी का समय गुजरने का है। इन चरणों में कोई अनहोनी नहीं हुई तो चुनावी जंग तय होगी।
नामांकन दाखिले की शुरूआत उर्मिला सोनकर खाबरी ने की। हालांकि उन्होंने अलग-अलग समय में नामांकन के दो सेट जिला निर्वाचन अधिकारी प्रियंका निरंजन को प्रस्तुत किये। घनश्याम अनुरागी ने भी दो सेट भरे।
सभी की निगाहें दोनों प्रत्याशियों के समर्थक प्रस्तावक बनने वाले सदस्यों के नाम पर थी। उर्मिला खाबरी के एक सेट में रामेन्द्र त्रिपाठी और निर्दोष यादव ने हस्ताक्षर किये। दूसरे सेट पर सपा के ही संजू कठेरिया और निर्दलीय मालती देवी के हस्ताक्षर रहे।
दूसरी ओर घनश्याम अनुरागी के एक सेट में रणविजय निषाद और ज्ञान सिंह भदौरिया ने व दूसरे सेट पर पूनम और पुष्पेन्द्र सिंह सेंगर ने हस्ताक्षर किये।
इसके पहले निषेधाज्ञा के बावजूद दोनों प्रत्याशी सड़क पर शक्ति प्रदर्शन करते हुए नामांकन के लिए जिला मजिस्ट्रेट न्यायालय तक पहुंचे। हालांकि भीतर केवल उम्मीदवार और समर्थक प्रस्तावक को ही इन्ट्री दी गई थी।
कांग्रेस प्रत्याशी उर्मिला सोनकर खाबरी के जुलूस में कांग्रेस जिलाध्यक्ष राजीव नारायण मिश्रा के अलावा समाजवादी पार्टी के नेता और कार्यकर्ता भी जिलाध्यक्ष नवाब सिंह यादव के नेतृत्व में पूरे जोश खरोश के साथ शामिल रहे। भाजपा के जुलूस में सांसद भानुप्रताप वर्मा, तीनों विधायक व जिलाध्यक्ष रामेन्द्र सिंह बना थे।
बहुजन समाज पार्टी ने इस चुनाव में अपने सदस्यों को अभी तक स्वतंत्र रखा है जिसके कारण उनके रूझान को चुनावी हार जीत में सर्वाधिक निर्णायक माना जा रहा है। सदस्यों में दलबार स्थिति इस प्रकार है- भाजपा- 06 जबकि दो निर्दलीय सदस्य अनिल सिंह सेंगर छुन्ना व अनुरूद्ध द्विवेदी ने भी भाजपा की सदस्यता ग्रहण करने की घोषणा कर दी थी। इन्हें मिलाकर भाजपा की अपनी शक्ति 08 सदस्यों की आंकी जा रही है। समाजवादी पार्टी- 04 जबकि निर्दलीय रामेन्द्र त्रिपाठी भी समाजवादी पार्टी में शामिल हो चुके हैं और उमादेवी व निर्दोष यादव भी अपनी गिनती समाजवादी पार्टी में करा रहे हैं। इस तरह समाजवादी पार्टी की कुल शक्ति 07 वोटों की मानी जा रही है। एक सदस्य कांग्रेस। बहुजन समाज पार्टी- 07। निर्दलीय-02। बचे निर्दलीयों में नामांकन प्रपत्र पर हस्ताक्षर करके एक खुलेआम कांग्रेस प्रत्याशी के साथ हो चुकी हैं। दूसरी निर्दलीय रेखा प्रजापति का समर्थन भाजपा प्रत्याशी को प्राप्त हो जाने की चर्चा है।
बसपा सदस्य-
बसपा सदस्यों में शामिल हैं- सुदामा चैहान, ज्योति पाण्डेय, अतर सिंह पाल, कैलाश राजपूत, प्रियंका गौतम, मीनाक्षी पटेल और मनोज याज्ञिक।