असमंजस में अधिकारी, किस तरह से लें पर्वों को लेकर शासन की गाइडलाइंस

IMG-20210112-WA0003
dir="auto">
* पीस कमेटी की बैठक में ताजिएदारों से कहा, पुरानी गाइडलाइंस के मुताबिक ही मनाएं पर्व
कोंच। हर रोज हिंदू और मुस्लिम धर्मों से जुड़े पर्व और त्यौहार हैं जिन्हें मनाने में अभी भी शासन द्वारा जारी कोविड गाइडलाइंस लागू है, लेकिन शासन द्वारा जारी इन गाइडलाइंस में खोंसे गए तरह तरह के लाकूनाओं को लेकर स्थिति इतनी अस्पष्ट है कि अधिकारी भी असमंजस में हैं। वे खुद नहीं समझ पा रहे हैं कि त्यौहारों को किस तरह मनाए जाने के लिए वह पब्लिक को दिशा निर्देश दें। ऐसी स्थिति में वह पुरानी गाइडलाइंस का हवाला देकर पर्व मनाने की बात कर रहे हैं। चेहल्लुम को लेकर सोमवार को कोतवाली में पीस कमेटी की बैठक प्रभारी निरीक्षक बलिराज शाही की अध्यक्षता में आहूत की गयी जिसमें आए ताजिएदारों को कहा गया है कि पुरानी गाइडलाइंस लागू हैं, ताजियों का जुलूस नहीं निकाला जाएगा लेकिन त्यौहार मनाने पर रोक नहीं है। पब्लिक की ओर से पर्वों के दौरान बिजली, पानी और साफ सफाई व्यवस्था दुरुस्त रखे जाने की मांग की गई। कोतवाल शाही ने साफ तौर पर जता दिया है कि शासन द्वारा जारी कोविड गाइडलाइन के मुताबिक ही पर्व मनाए जाएंगे। इस दौरान एसएसआई आनंद कुमार, दरोगा मदनपाल, दरोगा सर्वेश कुमार, शहर काजी बशीर उद्दीन, सज्जादानशीन आस्ताना-ए-कलंदरिया मियां आरिफ अली शाह, नासिर मंसूरी, अनवार खलीफा, महावीर यादव, नौशाद पठान आदि ताजिएदार व नागरिक मौजूद रहे।