जन अधिकार पार्टी ने दिया नारा,जिसकी जितनी संख्या भारी उसकी उतनी हिस्सेदारी

IMG-20210112-WA0003
IMG-20211106-WA0002
dir="auto">
माधौगढ़-उत्तर प्रदेश सरकार की बिगड़ती कानून व्यवस्था,महंगाई और सरकार द्वारा पिछड़े वर्ग का आरक्षण समाप्त किए जाने के विरोध में जन अधिकार पार्टी प्रशासन को विगत जून 2020 से लगातार ज्ञापन देकर प्रदर्शन कर रही है लेकिन सरकार ने पार्टी की मांगों पर विचार नहीं किया और प्रदेश में चारों तरफ पिछड़ों, दलितों,अल्पसंख्यकों के ऊपर रोज हत्या, लूट, बलात्कार और आगजनी की घटनाएं हो रही है। प्रदेश सरकार का प्रशासन से नियंत्रण पूरी तरह समाप्त हो गया। चारों तरफ त्राहि-त्राहि मची हुई है। डीजल-पेट्रोल की कीमतें भी आसमान छू रही हैं। संविधान द्वारा प्रदत्त आरक्षण व्यवस्था तार-तार हो रही है। पिछले वर्ग के छात्रों की छात्रवृत्ति खत्म कर दी गई। किसानों को बंधुआ मजदूर बनाया जा रहा है किंतु सरकार कुछ भी सुनने समझने मानने को तैयार नहीं है। इसलिए जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बाबू सिंह कुशवाहा ने छोटी छोटी जातियों को साथ लेकर भाजपा सरकार को उखाड़ फेंकने का मन बनाया है और उन्होंने जिसकी जितनी संख्या उसी अनुपात में उनकी हिस्सेदारी की बात भी कही है। जन अधिकार पार्टी के झांसी मंडल अध्यक्ष व माधौगढ़ विधान सभा के प्रभारी एड.महाराज सिंह कुशवाहा ने कहा है कि उनकी पार्टी सत्ता में आती है,तो वह सभी क्षेत्रों में हर वर्ग को उनकी संख्या के अनुपात में भागीदारी देखकर शिक्षण संस्था में एक समान पाठ्यक्रम लागू करेगी। गरीबों की पढ़ाई व दवाई की पूरी तरह से मुक्त करेगी। किसानों को मुफ्त बिजली देंगे खाद्य दवाई में छूट देंगे।