वृक्ष संरक्षण सबसे बड़ा पुण्य

IMG-20210112-WA0003
IMG-20211106-WA0002
dir="auto">
उरई. जिला एकीकरण द्वारा मनाये जा रहे कौमी एकता सप्ताह के अंतिम दिन वन विभाग के सहयोग से रगौली स्थित विभागीय नर्सरी में पर्यावरण रक्षा पर गोष्ठी आयोजित की गयी. इसमें माधौगढ़ के विधायक मूलचंद निरंजन, कालपी क्षेत्र के विधायक नरेन्द्र पाल सिंह जादौन और उरई नगर पालिका के अध्यक्ष अनिल बहुगुणा ने ख़ासतौर पर विचार प्रकट किये.
    नरेन्द्र पाल सिंह ने कहा कि वृक्षों के पोषण से बड़ा कोई पुण्य नहीं है. वे ऑक्सीजन के रुप में जीवन देते हैँ. हर पादप में औषधीय गुण होते हैँ जिससे वे निरोगी काया के वरदान स्वरुप हैँ.
मूलचंद निरंजन ने बिगड़ते पर्यावरण में सुधार के लिए हर नागरिक की वृक्षारोपण में सहभागिता जरूरी है. नगर पालिकाध्यक्ष अनिल बहुगुणा ने कहा कि भारतीय संस्कृति में वृक्षों को देवता स्वरुप माना गया है इसलिए उनकी परवरिश के लिए समर्पण दिखाया जाना चाहिए.
    जिला वनाधिकारी जय प्रकाश तिवारी ने अपने विभाग के महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट बताये. संचालन राम मोहन पांडेय ने किया. नाबार्ड के डी जी एम प्रकाश कुमार, परियोजना निदेशक, परमार्थ संस्था के वरुण सिंह आदि उपस्थित थे.