राजनीतिक तंत्र को साइड लाइन करने के पीछे के योगी के इरादे

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के उद्धार के लिए अरविन्द शर्मा को जिस सिद्ध बूटी के रूप में लखनऊ भेजा था वह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को स्वीकार्य नहीं हुए। भाजपा हाईकमान के साथ-साथ संघ […]

कौन सी जादू की पुड़िया है अरविन्द शर्मा के पास

उत्तर प्रदेश में संकट मोचक के बतौर भेजे गये अरविन्द शर्मा यहां के हालात संभालने के लिए कौन सा तीर मार सकते हैं यह विचारणीय है। कहा जा रहा है कि उत्तर प्रदेश में नौकरशाही […]

फ्राड कौन-एलोपैथी या आयुर्वेद

एलोपैथी फ्राड है या आयुर्वेद सोशल मीडिया पर इस मामले में जो तलवारें खिंची हुई हैं उनका सार यही प्रश्न लगता है जबकि ऐसा कोई द्वंद मूल तनातनी में है ही नहीं। बाबा रामदेव ने […]

यूपी में आपरेशन बोनसाई को विराम, प्याली का तूफान साबित हुई हालिया हलचलें

हाल में यूपी की स्थिति को लेकर दिल्ली से लखनऊ तक पार्टी में हुई तेज हलचलों के बाद अब लगता है कि भाजपा की प्याली का तूफान बिना कुछ घटित किये फिलहाल शांत हो गया […]

शहादत के बाद शब्द वाणों के जरिये एक और हिंसा की चपेट में आये हुए राजीव गांधी

राजीव गांधी के व्यक्तित्व में कुदरती मासूमियत थी। फरिश्ते जैसा दिखने वाला चेहरा। इसलिए जब वे आतंकवाद की वेदी पर शहीद हुए तो सारा देश अवाक रह गया था। उनके विरोधियों को भी इससे बड़ा […]

उप्र में पंचायत चुनाव…………………………………………घाव करें गंभीर

उत्तर प्रदेश में हालिया संपन्न हुए पंचायत चुनाव जिनको विधानसभा के एक वर्ष से भी कम समय बाद होने वाले आम चुनाव के सेमी फाइनल के बतौर देखा जा रहा था, में सत्तारूढ़ भाजपा को […]

कोरोना के बहाने शादियों को लेकर कुदरत का यह संदेश

कोरोना की दूसरी लहर ने ऐसे समय में दस्तक दी जब शादियों की लगन शुरू हो गई थी। लोगों ने गेस्ट हाउस से लेकर डीजे तक बुक करा लिये थे और थोक के भाव में […]

ओढ़ी हुई महानता के डर

कोरोना पर काबू पाने में मोदी सरकार की नाकामी जग जाहिर हो चुकी है। आज कोरोना इतने प्रचंड तरीके से फेलता जा रहा है कि सारी व्यवस्थायें उसके सामने बौनीं पड़ती नजर आ रही हैं। […]

केन्द्रीय हिन्दी संस्थान की अक्ल पर पड़े पत्थर, साहित्यिक इतिहास प्रकाशन योजना में युग पुरूष महावीर प्रसाद द्विवेदी का नाम भूला

केंद्रीय हिंदी संस्थान आगरा ने हिंदी साहित्य के हजार वर्ष के इतिहास को संजोने के लिए “हिंदी 100 रत्नमाला” योजना के तहत हिंदी के विशिष्ट साहित्यकारों के नाम पर पुस्तक छापने की प्रक्रिया प्रारंभ की […]