विधान परिषद चुनाव में पार्टी में तोडफोड की आशंका से भाजपा हाईकमान को क्यों छूटा रहा पसीना

उत्तर प्रदेश विधान परिषद के विधायकों के जरिये चुनाव में सत्तारूढ भारतीय जनता पार्टी का आत्म विश्वास हिला हुआ नजर आया। 12 सीटों के इस चुनाव में भारतीय जनता पार्टी द्वारा 11 उम्मीदवार उतारे जाने […]

असद भाई उत्तर प्रदेश मंे तथाकथित धर्म निरपेक्ष दलों केा क्यो नजर आ रहे है सबसे बडे हौआ

उत्तर प्रदेश में तथाकथित धर्मनिरपेक्ष पार्टियों के लिये इस समय सबसे बडा हौेआ असउद्दीन ओबेसी बने हुये है। हाल में उन्होने समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव के गढ आजमगढ क्षेत्र में दौरा करके उनके […]

खुशहाली का फार्मूला

सूचकांक से किसी देश और समाज की प्रगति को नापने में बडा झमेला है। आर्थिक विकास दर और मानव विकास सूचकांक भी जब अधूरे पाये गये तो खुशहाली सूचकांक तय किया गया । मानव विकास […]

आरएसएस के सर्वसत्तावादी मंसूबे की बलि अब चढेगे नीतिश कुमार

  आरएसएस के मंसूबे सर्वसत्तावादी हैं। इसके लिये संघ ने चरणबद्ध ढंग से काम किया । एक समय सघ के राजनीतिक मुखौटे भाजपा को सभी दलों ने अछूत घेाषित कर रक्खा था जिससे संघ को […]

एक पत्थर तेा तबियत से उछालो यारो

ट्रांसपेरेन्सी इण्टरनेशनल के सर्वे के अनुसार भारत में 89 प्रतिशत लोग भृष्टाचार को सबसे बडी समस्या मानते है। 1989 में वीपी सिंह के नेतृत्व वाले जनता दल को लोगेां ने सिर्फ तत्कालीन सरकार के प्रति […]

पश्चिम बंगाल में क्या सचमुच आ रही है भाजपा की सुनामी

जनता पार्टी की सरकार में मुख्य रूप से सोशलिस्ट घटक के जो नेता थे वे कहते थे कि उन्हें विरोध करना तो आता है लेकिन सरकार चलाना उनके बूते की बात नहीं है। इसलिए वे […]

एमएलसी चुनावों से सपा के आत्मविश्वास को संजीवनी

उत्तर प्रदेश में उच्च सदन विधान परिषद के पांच स्नातक और छह शिक्षक क्षेत्रों के लिए पिछले दिनों संपन्न हुए चुनाव अत्यंत रोमांचक रहे। इन चुनावों से बहुजन समाज पार्टी दूर रही। मुख्य मुकाबला भारतीय […]

आखिर जो बाइडन के राष्ट्रपति बनने का रास्ता साफ

निवर्तमान होने जा रहे डोनाल्ड ट्रम्प अमेरिका के ऐसे राष्ट्रपति रहे हैं जिन्होंने पद पर रहते हुए भी दुनिया के सबसे शक्तिशाली लोकतंत्र वाले अपने देश की फजीहत कराई और कार्यकाल के आखिरी चरण में […]

उपचुनाव परिणामों से मुख्यमंत्री योगी के हौसले बुलंद

ब्राह्मणों की नाराजगी, पश्चिमी उत्तर प्रदेश में नये कृषि अधिनियमों के खिलाफ किसानों के जबरदस्त असंतोष और हाथरस में दलित किशोरी की रेप के बाद हत्या जैसे सुलगते मुद्दों के बीच उत्तर प्रदेश सरकार के […]

संवेदनशील शासन प्रशासन

संवेदनशील शासन प्रशासन गुड गवर्नेंस की पहली शर्त है। यह ठीक है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने समय-समय पर इसके लिए मुश्कें कसी हैं लेकिन इसके जमीनी परिणाम अभी तक बहुत फलदायी नहीं रहे हैं। […]