एमएलसी चुनावों से सपा के आत्मविश्वास को संजीवनी

उत्तर प्रदेश में उच्च सदन विधान परिषद के पांच स्नातक और छह शिक्षक क्षेत्रों के लिए पिछले दिनों संपन्न हुए चुनाव अत्यंत रोमांचक रहे। इन चुनावों से बहुजन समाज पार्टी दूर रही। मुख्य मुकाबला भारतीय […]

आखिर जो बाइडन के राष्ट्रपति बनने का रास्ता साफ

निवर्तमान होने जा रहे डोनाल्ड ट्रम्प अमेरिका के ऐसे राष्ट्रपति रहे हैं जिन्होंने पद पर रहते हुए भी दुनिया के सबसे शक्तिशाली लोकतंत्र वाले अपने देश की फजीहत कराई और कार्यकाल के आखिरी चरण में […]

उपचुनाव परिणामों से मुख्यमंत्री योगी के हौसले बुलंद

ब्राह्मणों की नाराजगी, पश्चिमी उत्तर प्रदेश में नये कृषि अधिनियमों के खिलाफ किसानों के जबरदस्त असंतोष और हाथरस में दलित किशोरी की रेप के बाद हत्या जैसे सुलगते मुद्दों के बीच उत्तर प्रदेश सरकार के […]

संवेदनशील शासन प्रशासन

संवेदनशील शासन प्रशासन गुड गवर्नेंस की पहली शर्त है। यह ठीक है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने समय-समय पर इसके लिए मुश्कें कसी हैं लेकिन इसके जमीनी परिणाम अभी तक बहुत फलदायी नहीं रहे हैं। […]

बिहार में फिर राजक की पौ बारह

बिहार विधानसभा के चुनावी वाटरलू में बाजी एक बार फिर राजग के हाथ ही लगी है लेकिन इस बार के चुनाव ने राजनीतिक परिस्थितियों में कई मौलिक परिवर्तन दर्शाये हैं जो भविष्य में भी अलग […]

दलित प्रधानमंत्री की उम्मीद का दिया बुझा

रामविलास पासवान के निधन से एक संभावनाशील राजनीतिज्ञ का अवसान हो गया है। उनकी राजनीति की शुरूआत जिस धमाकेदार ढंग से हुई उससे उनके बहुत दूर तक पहुंचने की उम्मीदें जताई जाती थी। हालांकि सफल […]

घाटी के नेताओं की चुनौती पर क्यों उदासीन है केंद्र

कश्मीर घाटी में प्रमुख नेताओं को रिहा किये जाने से उथल-पुथल शुरू हो गई है। ये नेता दिग्भ्रिमित हैं और अपने राजनैतिक पुनर्जीवन की बाट जोह रहे हैं। अंधेरी सुरंग में फस जाने के एहसास […]

.रेप के बढ़ते मामलों में से शर्मसार होता देश

रेप के बढ़ते मामलों ने भारत की स्थिति को शर्मसार बना दिया है। वैश्विक एजेंसियां महिलाओं के लिए भारत को सबसे खतरनाक देश बताने लगी हैं। संयुक्त राष्ट्र संघ की एक अधिकारी ने उत्तर प्रदेश […]

सर्वोच्च अदालत के फैसले के बाद भी पुनर्वास न होना सरकारों की विफलता – राजेंद्र जोशी स्वतन्त्र पत्रकार

21 वी शताब्दी में वर्षो से लम्बित-विवादित समस्याओ को हल करके सरकार ने यह बताया कि समस्याओ को सुलझाया जा सकता है। लेकिन महज 4 दशक पुरानी नर्मदा घाटी के डूब प्रभावित गाँवों की समस्याएं, […]

रंगदारी वसूल करने वाले गली के गुण्डों को भी पीछे छोड़ गये आईपीएस पाटीदार

उत्तर प्रदेश में पुलिस का ढांचा किस कदर सड़गल चुका है इसकी मिसाल है महोबा के निलंबित एसपी मणिलाल पाटीदार के सामने आ रहे कारनामे। उन्होंने अपनी जुर्रत में रंगदारी वसूल करने वाले गली के […]