• June 27, 2024

एक माह तक चली इप्टा की रंगमंच प्रशिक्षण कार्यशाला

एक माह तक चली इप्टा की रंगमंच प्रशिक्षण कार्यशाला

 

 

 

उरई | विगत एक माह से पाठक  क्लासेस में इप्टा के तत्वावधान में चल रही निःशुल्क युवा रंग कार्यशाला का बीते मंगलवार को शहर के राजकीय मेडीकल कॉलेज के ऑडिटोरियम में समापन हो गया। समापन समारोह का शुभारम्भ  विशिष्ट अतिथि  जिला कार्यक्रम अधिकारी डॉ. अमरेन्द्र पोत्सायन ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। उन्होंने कहा कि बच्चों ने जिस मनोयोग से इस नाट्य कार्यशाला में भाग लिया है उसके लिए वे  बधाई के पात्र हैं।  बच्चे जीवन के रंगमंच पर भी सफलता पूर्वक सफल हों यही मेरी कामना है।

कार्यशाला संयोजक डॉ धर्मेन्द्र कुमार  ने कहा कि आप सबके सहयोग से हम तीसरी निःशुल्क युवारंग  कार्यशाला का समापन समारोह बेहतर ढंग से कर पा रहे हैं। आगे भी इसी तरह की कार्यशालाएं आयोजित होती रहेंगी। ऐसी कार्यशालाओं से बच्चों में कल्पनाशीलता एवं आत्मविश्वास का विकास होता है |

समापन समारोह में कार्यशाला के प्रतिभागी छात्र-छात्राओं ने ललित सिंह पोखरिया द्वारा लिखित और निर्देशित बाल नाटक ‘डबलू राजा’ की  प्रस्तुति दी। कार्यशाला के प्रशिक्षक, निर्देशक एवं राष्ट्रपति द्वारा संगीत नाट्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित ललित सिंह पोखरिया ने बताया कि यह नाटक बच्चों को खेल-खेल में ही नाटक की रचनात्मकता सिखाता है | बच्चों को कल्पनाशील,संवेदनशील , चिंतनशील बनाना और तर्कशील बनाना  है | नाटक  उनके भीतर साहस आत्मविश्वास और शारीरिक मानसिक स्फूर्ति  जगाता है|  बच्चों के भीतर एकता,  अनुशासन और नेतृत्व क्षमता को विकसित करता है | उन्हें रचनात्मक कार्यों के लिए चुनौती स्वीकार करना सिखाता है | मुसीबत में बुद्धि विवेक से काम लेना सिखाता है | यह नाटक डब्लू राजा पत्र के माध्यम से केवल बच्चों को ही नहीं पूरे समाज को संदेश देता है कि शक्ति अधिकार और समृद्धि का अहंकार और उन्माद सदा विनाश का कारण बनता है इसलिए उसका प्रयोग सदा मानवता के हित में करना चाहिए।

श्रेयस गुप्ता एवं संतोष दीक्षित की जुगलबंदी ने मुंशी प्रेमचंद की कहानी बड़े भाईसाहब का नाट्य मंचन किया। परिकल्पना एवं निर्देशन श्रेयस  गुप्ता का रहा |

डॉ हरिमोहन पुरवार ने कहा कि ललित सिंह पोखरिया  जिस अपनेपन से बच्चों को नाटक सिखाते हैं वो काबिले तारीफ है।

सी.एम.एस. डॉ प्रशांत निरंजन ने कहा कि हम छोटे-छोटे प्रयास से बच्चों को एक नई दिशा की ओर अग्रसारित कर सकते हैं | ऐसी कार्यशालाएं बहुत प्रभावशाली होती हैं |

इप्टा  अध्यक्ष देवेंद्र शुक्ला  ने मंचन को देखते हुए कहा कि ऐसा नाट्य मंचन  उरई में काफी लंबे समय बाद हुआ है | यह एक बेहतर प्रस्तुति कही जा सकती है | फिल्म अभिनेता शशि भूषण चतुर्वेदी ने बच्चों को अभिनय  के महत्व बारे में जानकारी दी |

कार्यशाला संयोजक संतोष दीक्षित ने कहा कि हम यह प्रयास करते रहेंगे कि जनपद के बच्चे नाट्य एवं रंग कला सीख कर पूरे भारत में नाम रोशन करें | कार्यशाला के सह संयोजक लखन लाल निरंजन ने सभी का आभार व्यक्त किया  | आर्ट एंड क्राफ़्ट डिजाइनिंग के लिए प्रदीप वर्मा ने संबोधन  किया |  कार्यशाला संयोजन समिति के सदस्य मोनू गौतम, रामकुमार ओमरे, शिवम् गुप्ता ,  राहुल वर्मा, मोनू  ,  उपासना, प्रशांत स्वर्णकार, राज  पप्पन , डॉ स्वाति राज , प्रमोद वर्मा , जितेंद्र वर्मा , राजकुमार सिंह, बालकिशन वर्मा , शैलेंद्र सिंह , संत कुमार , सौरभ निरंजन , यश वर्मा , मृत्युंजय , पीहू , अदिति , देवांश , दिव्यांश , दीपांशु , हर्ष , साखी संजीव गुप्ता प्रिया निधि काजल अवंतिका कार्तिक आकृति प्रीति एकता गौतम बालकृष्ण प्रजापति , रणधीर सिंह सहित कई गणमान्य मौजूद रहे। कार्यक्रम का सफल संचालन संस्कार भारती की जिलाध्यक्ष सुश्री रसना तिवारी जी ने किया।

 

Related post

स्मार्ट सिटी अलीगढ़ – ओज़ोन सिटी

स्मार्ट सिटी अलीगढ़ – ओज़ोन सिटी

ओज़ोन ग्रुप की फिलॉसफी: ओज़ोन ग्रुप का दृष्टिकोण केवल कंक्रीट संरचनाओं को खड़ा करने और अधिक से अधिक पैसा कमाने तक सीमित नहीं है। यह एक बड़े सामाजिक उत्तरदायित्व को…
पूजा अर्चना के साथ शुरू हुई जगन्नाथ जी रथ यात्रा

पूजा अर्चना के साथ शुरू हुई जगन्नाथ जी रथ यात्रा

    उरई | श्री जगन्नाथ जी की रथ यात्रा की शुरुआत कालपी रोड स्थित  श्याम धाम से आज शाम 5.00 बजे से शुरू हुई। सर्वप्रथम जगन्नाथ जी की पूजा…

विहिप नेता को गोली मारे जाने की घटना में मुकदमा दर्ज

  उरई | विश्व परिषद के नेता और शिक्षाविद डॉ भास्कर अवस्थी को गोली मारे जाने की शुक्रवार को हुई घटना को ले कर उनके बड़े भाई प्रभाकर अवस्थी की…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *