पवित्र रिश्ते को तार तार करने वाले हैवान को अदालत ने सुनाई जो सजा तो हिल गई शतान की औलादें

उरई । पवित्र रिश्ते को तार तार करने वाले बाप के ख़िलाफ़  अदालत ने नजीर  कायम करने वाला फ़ैसला सुनाया ताकि भविष्य में कोई इस हद तक नीचे गिरने का साहस न कर सके ।

मामला तीन वर्ष तक अपनी बेटी के साथ जबरन मुँह काला करते रहे बाप का है  । कलंकी बाप कुठौंद थाने के गाँव का मूल रूप से रहने वाला है । इसने सबसे पहले गाँव में ही ट्यूब वैल पर उसे अपनी हविश का शिकार बनाया । बेटी ने बहुत विरोध किया लेकिन इस जानवर को न तो दया आई न शर्म । इसके बाद वह उरई में तुफ़ैल पुरवा मोहल्ले में आ कर बस गया । इस बीच उसे ऐसी लत लग गई कि वह हर रोज बेटी के साथ हैवानियत को दोहराता था जिससे बेटी के लिए ज़िंदगी नरक बन गई थी । उसकी आत्मा चीत्कार करती थी लेकिन हैवान बाप को कोई ग्लानि महसूस नहीं हो रही थी ।

आखिर में अपनी बेबसी और दर्द को लड़की ने अपनी सहेली से शेयर किया जिसके बाद उसकी सलाह पर उसने बाप की नीचता का वीडियो बनाया और माँ को दिखाया । माँ सन्न रह गई । इसके बाद बिफरी माँ ने सारा लिहाज भूल कर अपने शैतान पति के ख़िलाफ़ कोतवाली उरई में मुक़दमा लिखा दिया । इसकी तारीख थी 14 जनवरी 2016। ए डी जे सेकंड श्रीनाथ सिंह की अदालत में यह केस चला । उन्होने 1 साल 18 महीने में ट्रायल पूरा  करके  जब फ़ैसले के लिए आज का दिन मुकर्रर किया तो सबकी निगाह टिकी थी कि इंसानी मूल्यों के इस हत्यारे को अदालत क्या सजा देती है ।

आखिरकार फ़ैसला सुनाते हुए जज साहब ने साफ़ कर दिया कि ऐसे अपराधी को कोई रियायत नहीं दी जा सकती । उन्होने अभियुक्त को आजीवन कारावास की सजा दी , साथ ही उस पर 5 लाख 10 हजार रुपये का दंड भी थोपा । बताया गया कि जिले में किसी आपराधिक मामले में यह अभी तक का सबसे ज्यादा अमाउंट का अर्थ दंड है ।

Advertisements

एडिशनल के दरबार में सकपकाए से बैठे रहे सेटर एस ओ

 

कोंच-उरई । जिले के अपर पुलिस अधीक्षक सुरेन्द्रनाथ तिवारी ने शनिवार को कोतवाली में अधीनस्थों की क्लास लगाई और अपराधों पर रोकथाम के लिये आवश्यक दिशा निर्देश दिये। उन्होंने सर्किल में सबसे खराब प्रदर्शन करने बाले थानों को कड़ी चेतावनी देते हुये कहा कि लंबित विवेचनाओं का शीघ्र निपटारा कर उन्हें सामान्य लेबिल तक लायें वरना दंड भुगतने के लिये तैयार रहें, खासतौर पर कोंच कोतवाली में लंबित विवेचनाओं की अधिक संख्या पर उन्होंने गहरी नाराजगी जताई।

शनिवार को एएसपी सुरेन्द्रनाथ तिवारी ने कोतवाली कोंच में सर्किल के सभी चारों थानों कोतवाली कोंच, थाना कैलिया, थाना नदीगांव और थाना एट के थानेदारों और थाना प्रभारियों की कक्षा लगाई और उन्हें क्राइम कंट्रोल की घुट्टी पिलाते हुये विंदुवार अपराधों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि पुलिस का सबसे पहला काम है अनुशासित ढंग से रह कर अपना काम करना और उम्दा रिजल्ट हासिल करना। उन्होंने कहा कि अपने दिये गये काम के प्रति पूरी तरह से सचेष्टï रहें, ऐसा करके तथा अपराधियों पर पैनी नजर रख कर वे अपराधों पर कारगर ढंग से नियंत्रण रख सकते हैं। उन्होंने बीट, गश्त और पिकेट को लेकर भी बताया कि किस प्रकार बीट बुक में दर्ज सूचनाओं के माध्यम से वे अपराधियों पर कारगर ढंग से अंकुश लगा सकते हैं। उन्होंने कहा कि परेशान नागरिक जब पुलिस के पास अपनी उम्मीदें लेकर आता है और उसे न्याय नहीं मिलता है तो उसकी पुलिस के प्रति नकारात्मक सोच बनती है, अत: फरियादी के साथ अच्छा व्यवहार करें, उसकी समस्या का समाधान करें। उन्होंने जनता और पुलिस के बीच बढिया तालमेल की जरूरत बताई। इस दौरान सीओ कोंच रुक्मिणी वर्मा, कोतवाल सत्यदेव सिंह, एसएसआई मनोजकुमार सिंह, दरोगा उमेश सिंह, घनश्याम यादव, अवधेश कुमार सिंह, एसओ नदीगांव रवीन्द्रकुमार त्रिपाठी, थाना कैलिया से नरेशसिंह पाल, सुदीश कुमार, बीएल आजाद आदि उपस्थित रहे।

 

 

पड़ोसी दबंग से परेशान दिव्यांग की नहीं सुन रही पुलिस

कोंच=उरई । कांशीराम कॉलोनी में निवास करने बाला एक दिव्यांग अपने दबंग पड़ोसी से खासा परेशान है। वह दबंग न केवल पड़ोस में रहने बाले दिव्यांग को आये दिन गाली गलौच करके धमकाता रहता है बल्कि दिव्यांग की पत्नी पर भी उसकी बुरी नजर है। दिव्यांग ने जब इलाकाई चौकी में इसकी शिकायत की तो आरोप है पुलिस उसकी मदद करने के बजाये उल्टे उसे ही धमका कर भगा देती है।

सीओ रुक्मिणी वर्मा से शिकायत करने पहुंचे कांशीराम कॉलोनी निवासी संतोषकुमार वर्मा पुत्र बालकिसुन वर्मा ने बताया कि वह तथा उसकी पत्नी दिव्यांग हैं और अध्यापन का कार्य करके आजीविका चलाता है। उसके पड़ोस में रहने बाला पप्पू वर्मा दबंग किस्म का व्यक्ति है और उसकी पत्नी पर बुरी नजर रखता है जिसके चलते कई दफा सूने घर में घुस चुका है। गुजरी 16 अगस्त को उसकी मां चूल्हे पर खाना बना रही थी तभी उक्त पप्पू आया और बाल्टी भर पानी उसके चूल्हे में उंडेल दिया। जब इस कृत्य का विरोध किया गया तो पप्पू भद्दी भद्दी गालियां देने लगा। वह पप्पू की शिकायत करने चौकी सुरही गया तो उसे न्याय देने के बजाये दरोगा ने उसे ही उल्टा डांट कर भगा दिया। सीओ ने जांच कराने का भरोसा दिया है।

ए डी एम और ए एस पी ने फरियादियों को सुना

कोंच-उरई । लोगों की खासतौर पर राजस्व से जुड़ी समस्याओं के निस्तारण के लिये आयोजित समाधान दिवस में आज सर्किल के तीन थानों में कुल 19 शिकायतें दर्ज की गईं जिसमें तीन का मौके पर निस्तारण कर दिया गया। एडीएम व एएसपी ने भी कई थानों का निरीक्षण कर शिकायतों के निस्तारण की स्थिति देखी और अधीनस्थों को इस बाबत कड़े निर्देश दिये कि शिकायतों के निस्तारण में गुणवत्ता का पूरा ध्यान रखा जाये ताकि एक ही समस्या के लिये लोगों को बार बार थानों का रुख न करना पड़े। अपर एसपी सुरेन्द्रनाथ तिवारी ने भी अधीनस्थों को हिदायत दी कि राजस्व से बाबस्ता समस्याओं के निस्तारण में राजस्व के अधिकारियों के साथ बेहतर तालमेल के साथ काम करें।

कोतवाली कोंच में निपटे समाधान दिवस में कुल 13 शिकायतें आईं जिनमें 2 का निस्तारण मौके पर ही कर दिया गया। अपर जिलाधिकारी आरके सिंह और एएसपी सुरेन्द्रनाथ तिवारी ने भी समाधान दिवस का निरीक्षण किया और पिछली समस्याओं के निस्तारण की स्थिति देख कर जरूरी दिशा निर्देश अधीनस्थों को दिये। कौशलपुर के प्रेम नारायण वर्मा ने खेतों को चर रहे छुट्टा मवेशियों की शिकायत की, कस्बे के अधिवक्ता जुगलकिशोर अग्रवाल ने डायल 100 की कार्यशैली को रेखांकित करने बाला प्रार्थना पत्र देकर कहा कि यूपी 100 की पुलिस बालू लदे वाहनों से अबैध बसूली करती है और अपने कार्यक्षेत्र से बाहर जाकर दो पहिया वाहनों की चेकिंग के नाम पर गरीबों का शोषण करती है। इसके अलावा अन्य प्रार्थना पत्र खेतों पर अबैध कब्जों, मेंड़ मिसमार करने एवं बीच रास्ते में लैट्रिन टेंक खोदने आदि से संबंधित शिकायतें आईं। कोतवाल सत्यदेव सिंह, एसएसआई मनोजकुमार सिंह सहित कई थानेदार थी मौजूद रहे। कैलिया थाने में तहसीलदार सतीश वर्मा की अध्यक्षता में निपटे समाधान दिवस में कुल 3 शिकायतें आईं जिनमें 1 का मौके पर ही निस्तारण किया गया। एसओ प्रभुनाथ मौजूद रहे। उधर, नदीगांव थाने में एसओ रवीन्द्र कुमार त्रिपाठी की अध्यक्षता में हुये समाधान दिवस में कुल 5 प्रार्थना पत्र आये जिनमें 2 का समाधान मौके पर किया गया। एडीएम और एएसपी ने वहां भी निरीक्षण किया। एट थाने में एसओ चंद्रशेखर दुवे की अध्यक्षता में आई सभी 2 शिकायतों का मौके पर ही निस्तारण कर दिया गया।

विशेष अभियान के लिए हर गाँव में रोस्टर वार सफाई कर्मियों की फौज झोंकने की तैयारी

उरई। जिले में सरकार की मंशा के अनुसार विशेष गंदगी मुक्त गांव सफाई अभियान के तहत गांव-गांव में पांच-पांच सफाई कर्मचारियों की टीम बनाकर विशेष सफाई अभियान चलाया जा रहा है। जिससे गांव में रह रहे लोगों को वास्तव में गंदगी से निजात मिल रहा है।

जिलाधिकारी द्वारा चलाएं जा रहे विशेष सफाई पखवाड़े के माध्यम से ब्लाक के हर गांव पंचायत में एक नोडल अधिकारी की निगरानी में पांच सफाई कर्मचारियों की टीम का गठन किया गया है। जिसकी मानीटरिंग एडीओ पंचायत छेदालाल दोहरे कर रहे है। रोस्टर के आधार पर चयनित ग्राम पंचायतें एक नोडल अधिकारी के मौजूदा हालात के साथ सत्यापित मानी जाएगी और यह विशेष पखवाड़ा 17 अगस्त से चल रहा है 25 अगस्त को इसका समापन किया जाएगा। साथ ही एडीओ पंचायत महेबा छेदालाल ने बताया कि हमारे ब्लाक में खंड विकास अधिकारी से लेकर जिला स्तरीय अधिकारियों में जिला मनोरंजन कर अधिकारी सरसेला न्याय पंचायत, महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र दमरास, प्रबंधक इफको उरई बाबई न्याय पंचायत, जिला पंचायत राज अधिकारी महेबा न्याय पंचाय तहसीलदार कालपी मुसमरिया, न्याय पंचायत, मुख्य कार्यकारी अधिकारी मत्स्य चुर्खी, जिला पूर्ति अधिकारी न्यायमपुर न्याय पंचायत में देखरेख के साथ सफाई कार्य की निगरानी करेगे और उसी आधार पर फोटो और वीडियो अपलोड करक जिलाधिकारी की मेल आईडी पर डालकर सत्यापन करायेगे।

 

सूखे से कराह रहा बुंदेलखंड , मवेशियों के लिए  सबसे ज्यादा संकट

उरई। कर्मचारी शिक्षक मोर्चा की बैठक पाठकपुरा में हुई जिसकी अध्यक्षता लालसिंह चौहान एवं संचालन हरीशंकर याज्ञिक मंत्री ने किया।

बैठक को संबोधित करते हुए जिलाध्यक्ष लालसिंह चौहान एवं संयोजक अतर सिंह राठौर ने कहा कि जनपद जालौन सहित पूरे बुंदेलखंड सूखे की विभीषिका से गुजर रहा है जिसके कारण किसानों की खरीफ की फसले सूख गई है तथा पशुओं को चारे के लाले पड़े है। अन्ना पशुओं को चारे की कोई व्यवस्था नही है बची हुई फसले उनके द्वारा चट की जा रही है। उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से जनहित में मांग करते है कि बुंदेलखंड सूखाग्रस्त घोषित किया जाए तथा सूखा राहत कार्य तत्परता से कराए जाए एवं अन्ना पशुओं को चारे की व्यवस्था सरकार द्वारा करायी जाए। सभा को सुंदरलाल यादव, रामबालक व्यास, डा. दिनेश सोनी, रियाजुलहक, देवेन्द्र गुप्ता, बीके खरे, आदित्य मिश्रा, जयदेव यादव, धर्मेन्द्र बबेले, राममोहन निरंजन, डा.प्रयाग नारायण त्रिपाठी आदि ने संबोधित किया।

सारा नगर चमका कर ही मानेंगे , निकली ई ओ साहब की सवारी – लोग हुए भाव विभोर

रामपुरा(उरई )। सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के स्वच्छ भारत मिशन को कामयाब बनाने और नगर में सफाई व्यवस्था चौकस  रखने के लिए अधिशाषी अधिकारी डीडी सिंह ने नगर पंचायत के विभिन्न वार्डो में जाकर सफाई व्यवस्था दुरुस्त रखने के निर्देश दिए।

अधिशाषी अधिकारी डीडी सिंह, लेखाकार शिवकुमार सिंह तथा नगर पंचायत के अन्य कर्मचारियों के साथ उन्होंने नगर के वार्ड नंबर एक, पांच, आठ व दस का सघन्य निरीक्षण किया। जहां वार्डो में सफाई व्यवस्था को दुरुस्त करने के सफाई कर्मियों को निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि खुले में शौचमुक्त अभियान के तहत अब तक नगर में 441 लाभार्थियों को धनराशि दी जा चुकी है। जो लाभार्थी बचे है उनके खातें में जल्द ही धनराशि हस्तांतरित कर दी जाएगी। बाद में नगर पंचायत कार्यालय में उन्होंने सफाई कर्मचारियों की बैठक भी ली और स्पष्ट किया कि सफाई व्यवस्था में किसी भी तरह की हीलाहवाली बर्दास्त नही की जाएगी।