• November 17, 2023

समितियों में शुचिता और सहकारी सिद्धांत के अनुरूप करें कार्य : वेंकटेश्वरलू

समितियों में शुचिता और सहकारी सिद्धांत के अनुरूप करें कार्य : वेंकटेश्वरलू
*’बिना संस्कार नहीं सहकार; ध्येय वाक्य को लेकर लोगों को जोड़ रही सहकार भारती : राजदत्त पांडेय*
*सहकारिता की मूल भावना के साथ समृद्धि का संकल्प साकार करने में इससे मिलेगी बेहतर मदद*
लखनऊ। सहकारी समितियों में शुचिता एवं पारदर्शिता के साथ सहकारी सिद्धांत के अनुरूप कार्य होना चाहिए। इससे सहकारिता की मूल भावना के साथ सहकार से समृद्धि का संकल्प साकार करने में बेहतर मदद मिलेगी। उपरोक्त विचार प्रमुख सचिव परिवहन एल वेंकटेश्वरलू ने अवध कृषि सहकारी विकास समिति के तत्वावधान में गुरुवार को आयोजित सहकारिता सप्ताह के अंतर्गत आईसीसीएमआरटी में व्यक्त किए। वह ‘गैर ऋण सहकारी समितियां के पुनरुद्धार एवं वित्तीय समावेश’ विषयक संगोष्ठी में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि राष्ट्र की प्रगति के लिए जरूरी है कि सहकारिता क्षेत्र के लोग इसे आत्मसात करें और इसके उन्नयन तथा उत्थान के लिए समर्पित होकर काम करें।
विशिष्ट अतिथि सहकार भारती पैक्स प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय संयोजक राजदत्त पाण्डेय ने कहा कि सहकार भारती सहकारिता क्षेत्र में लोगों को जागरूक करने का कार्य कर रही है। बिना संस्कार नहीं सहकार जैसे ध्येय वाक्य को लेकर देश में सहकारिता से लोगों को जोड़ रही है। सहकार भारती के प्रदेश महामंत्री एवं उत्तर प्रदेश राज्य निर्माण सहकारी संघ के निदेशक डॉ.प्रवीण सिंह जादौन ने कहा कि हम 70वां सहकारिता सप्ताह मना रहे हैं। सहकारिता को सुदृढ़ करने के लिये पिछले माह ठोस कदम उठाए गए हैं। सदस्यता अभियान एवं सहकारी समितियों को सुदृढ़ बनाने को स्वयंसेवक नियुक्त कर नवाचार किया गया है। केंद्र में सहकारिता मंत्रालय बनने के बाद बी पैक्स से सहकारी समितियां अब बहुउद्देशीय कार्य कर ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार उपलब्ध करा सकेंगी।
सहकार भारती के प्रदेश मंत्री एवं उत्तर प्रदेश राज्य सहकारी बैंक के निदेशक जितेंद्र बहादुर सिंह ने कहा कि सहकारिता के क्षेत्र में काम करते हुए सेवा की भावना के साथ-साथ संवेदनशीलता होना भी जरूरी है। इस दिशा में भी हमें जागरूक रहना है। सहकारी प्रबंधन एवं प्रशिक्षण संस्थान के आचार्य डॉ.राम कोमल ने कहा कि सहकारिता क्षेत्र की चुनौतियों को समझकर उस पर सोच-विचार कर हमें आगे बढ़ना चाहिए। सहकारी क्षेत्र में काम करने वाले लोग प्रशासन में स्पष्टता के साथ पारदर्शी हों और उत्तरदायी बनें।
कार्यक्रम में प्रदेश सह महिला प्रमुख शालिनी सिंह, शिविता गोयल, विमला तिवारी, दीप्ति सिंह, प्रदेश कोषाध्यक्ष शिवेंद्र प्रताप सिंह, प्रदेश विपणन प्रमुख सुरेंद्र सिंह चौहान, अवध विकास परिषद के अध्यक्ष अरविंद मिश्र, सहकार भारती महानगर अध्यक्ष पीयूष मिश्रा, महामंत्री संजय चौहान, संगठन प्रमुख रवितेश प्रताप सिंह, जिलाध्यक्ष सर्वेश यादव, अवध कृषि सहकारी विकास समिति के संचालक राजेश कुमार सिंह, सीएल श्रीवास्तव, जीएस त्रिपाठी, शिवमंगल सिंह चौहान, घनश्याम पाठक उपस्थित थे। संचालन सहकार भारती के प्रदेश उपाध्यक्ष और राज्य निर्माण एवं श्रम विकास संस्थान के निदेशक हीरेंद्र कुमार मिश्रा ने किया।

Related post

स्मार्ट सिटी अलीगढ़ – ओज़ोन सिटी

स्मार्ट सिटी अलीगढ़ – ओज़ोन सिटी

ओज़ोन ग्रुप की फिलॉसफी: ओज़ोन ग्रुप का दृष्टिकोण केवल कंक्रीट संरचनाओं को खड़ा करने और अधिक से अधिक पैसा कमाने तक सीमित नहीं है। यह एक बड़े सामाजिक उत्तरदायित्व को…
पूजा अर्चना के साथ शुरू हुई जगन्नाथ जी रथ यात्रा

पूजा अर्चना के साथ शुरू हुई जगन्नाथ जी रथ यात्रा

    उरई | श्री जगन्नाथ जी की रथ यात्रा की शुरुआत कालपी रोड स्थित  श्याम धाम से आज शाम 5.00 बजे से शुरू हुई। सर्वप्रथम जगन्नाथ जी की पूजा…

विहिप नेता को गोली मारे जाने की घटना में मुकदमा दर्ज

  उरई | विश्व परिषद के नेता और शिक्षाविद डॉ भास्कर अवस्थी को गोली मारे जाने की शुक्रवार को हुई घटना को ले कर उनके बड़े भाई प्रभाकर अवस्थी की…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *