दलित ऑटो ड्रायवर  की जलने से मौत के मामले में उबाल, चौकी इंचार्ज के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर सडक पर शव रख परिजनों ने काटा हंगामा

IMG-20210112-WA0003

उरई। एक सप्ताह पहले संदिग्ध हालत में जले आटो चालक की मेडीकल काॅलेज झांसी में उपचार के दौरान श्निवार को देर रात मौत हो गयी। परिजनो ने आज सुबह उसका शव लाकर भगत सिंह चौराहे पर रख दिया और सडक पर धरना देकर जाम लगा दिया। उनका आरोप था कि राजेन्द्र नगर चौकी  इंचार्ज ने मृतक के कथित हत्यारों को बचाने की कोशिश की है जिससे वे अभी तक गिरफ्तारी से बचे हुये है। वे पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों के सामने आकर चौकी  इंचार्ज के खिलाफ कडी कार्यवाही की मांग कर रहे थे। पहले उन्होने भगत सिंह चौराहे पर काफी देर तक हंगामा किया जिसके बाद वे शव को लाकर जिला अस्पताल के गेट के सामने जाम लगाकर बैठ गये। आखिर में अपर पुलिस अधीक्षक डा0 अवधेश सिंह ने नगर क्षेत्राधिकारी संतोष कुमार के साथ पहुंच कर चौकी इंचार्ज पर लगाये जा रहे आरोपो की निष्पक्ष जांच का आश्वासन दिया तब कहीं जाकर वे शव को उठाने के लिये तैयार हुये ।
अनुसूचित जाति के ऑटो ड्रायवर की जलने के कारण मौत का मामला तूल पकड गया। मुहल्ला नया पटेल नगर में सिचाई विभाग के स्टोर के सामने रहने वाला शैलेन्द्र किशुन पांचाल और उनकी पत्नी रेखा के साथ मजदूरों को मटर तुडवाने के लिये आटो से लेकर जाता था। 24 जनवरी और 25 जनवरी की दरम्यानी रात उसे किशुन पांचाल की पत्नी रेखा यह कहकर बुलाने पहुंची कि पति बीमार है और हालत गम्भीर होने की वजह से उन्हें अभी अस्पताल ले चलना है। इस दौरान संदिग्ध हालत में शैलेन्द्र आग की चपेट में आकर झुलस गया। उसकी हालत उसम इतनी गम्भीर थी कि जिला अस्पताल में डाक्टरांे हाथ खडे कर दिये और झांसी में मेडीकल काॅलेज के लिये रिफर कर दिया । बाद में शैलेन्द्र की पत्नी प्रीति ने पुलिस को तहरीर देकर कहा कि किसी बात पर विवाद हो जाने के कारण किशुन उसकी पत्नी रेखा और तीन चार अन्य लोगो ने शैलेन्द्र को मारते पीटते हुये मिटटी का तेल डालकर उसे आग लगा दी।
शैलेन्द्र की बीती रात जब मौत हो गयी तो प्रीति व उसके परिजन उत्तेजित हो गये। उनका कहना था कि इस मामले में राजेन्द्र नगर चौकी इंचार्ज साबिर अली ने गददारी की है। उन्होने 3-4 आरोपितों को पकडा था लेकिन छोड दिया जब तक साबिर अली के खिलाफ कार्रवाई नहीं होगी वे लोग शैलेन्द्र का शव सडक पर रखकर विरोध प्रकट करते रहेगें। सीओ सिटी संतोष कुमार के साथ मौके पर पहुंचे अपर पुलिस अधीक्षक डा0 अवधेश सिंह ने साबिर अली के खिलाफ जांच का भरोसा दिलाकर विरोध प्रदर्शन खत्म कराया।