धौलपुर के जालसाज ने बीएसएफ में भर्ती कराने के नाम पर नदीगांव क्षेत्र के युवको को ठगा , इन्स्पेक्टर आरके त्रिपाठी की इस सूझबूझ से दबोचा गया

IMG-20210112-WA0003

उरई। नदीगांव पुलिस ने सीमा सुरक्षा बल में भर्ती कराने के नाम पर ठगी करने वाले एक जालसाज को गिरफ्तार किया है। नदीगांव क्षेत्र के वावली में इसने कम से कम दो लोगो अनिल पाल और धर्मेन्द्र कुशवाहा से 15-15 हजार रूपये ऐंठ लिये थे । इसके पास से बीएसएफ की वर्दी भी बरामद हुयी है।
नदीगांव थाना के प्रभारी निरीक्षक आरके त्रिपाठी ने बताया कि पकडा गया आरोपित भीमसेन ठाकुर राजस्थान के धौलपुर जिले के थाना राजाखेडा अन्तर्गत सिलावट गांव का निवासी है। इसका भाई वावली के अनिल पाल के साथ पंजाब में पानी पूडी का धन्धा करता था। दोस्ती के नाते वह वावली में अनिल पाल के पास आने जाने लगा । बाद में अपने भाई के सम्पर्क से भीमसेन की भी आवाजाही वावली में होने लगी ।
एक दिन भीमसेन बीएसएफ की डेªस में आया और बताने लगा कि उसकी भर्ती हो गयी है। उसने दूसरे लोगो की भर्ती भी रूपयो से कराने के नाम पर वावली के बेरोजगार नौजवानों पर डोरे डालने शुरू कर दिये । अनिल और उसके दोस्त धर्मेन्द्र से इसने भर्ती के झांसे में 15-15 हजार रूपये ले लिये। इतना ही नहीं उसने फर्जी प्रवेश पत्र और मेडीकल रिपोर्ट भी दोनो को थमा दी।
नदीगांव के प्रभारी निरीक्षक आरके त्रिपाठी को सुरागियों के अपने ताने बाने की बदौलत संदिग्ध तौर पर भीमसेन का नाम पता चला । बाद में उसकी जाल साजी स्पष्ट होते ही उन्होने धर्मेन्द्र से तहरीर लेकर उसके खिलाफ मुकदमा लिख लिया और उस पर नजर रखने लगे। आज जैसे ही उन्हें सूचना मिली भीमसेन वावली में ही है उन्होने उपनिरीक्षक दिनेश कुमार गिरि को आरक्षी तेजवीर सिंह के साथ भेजकर पकडवा लिया। उन्होने बताया कि भीमसेन से पूंछतांछ चल रही है। उसके द्वारा और लोगो के साथ भी जालसाजी की जाना सम्भावित है। पूंछतांछ में इसका पता चल जायेगा।