नमामि गंगे को कानपुर में राजशेखर के कमिश्नर बनकर आने से नई गति , प्रधानमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट के लिये कटिबद्ध हैं मण्डलायुक्त

20191128_121956
IMG-20200820-WA0008
IMG-20200831-WA0002
IMG-20200831-WA0003
IMG-20210112-WA0003

2004 बैच के आईएएस राजशेखर प्रयागराज और लखनऊ सहित 10 जिलो मेें डीएम की लम्बी पारी खेलने के बाद आजकल कानपुर के कमिश्नर हैं। राजशेेखर ने जहां भी रहे क्रियेटिविटी के झण्डे गाडे। उन जैसे अधिकारी विलक्षण होते है जो प्रशासन की धमक बनाकर काम करने के साथ-साथ क्विक डिस्पोजल के लिये मशहूर है। इसीलिये कानपुर में मण्डलायुक्त की नई भूमिका में उनकी ओर सूबे के इस सबसे बडे और चुनौतीपूर्ण मण्डलों में से एक के लोगो की निगाहें टिकी हुयी है।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नमामि गंगे के ड्रीम प्रोजेक्ट का खास दारोमदार पतित पावनी , पुण्य सलिला को कानपुर में निर्मल और अविरल बनाने पर है। राजशेखर जैसे शानदार प्रशासक को इस बात का भलीभांति अहसास है इसलिये उन्होने व्यक्तिगत रूप से नमामि गंगे को कानपुर में साकार करने की चुनौती ओढ ली है।
ध्यान रहे कि बस्ती के जिलाधिकारी के रूप में उन्होने मनोरमा नदी को स्वच्छ करने का जो बींडा उठाया था उसकी मिसाल लोगो के सामने है इसलिये लोग कानपुर में गंगा को उसके स्वरूप में लाने की कोशिशों को लेकर राजशेखर के कारण बेहद आशान्वित हो गये है।
राजशेखर ने गत दिनों कानपुर में गंगा देखने के लिये 10 किलो मीटर की नौका यात्रा अटल घाट से सिद्धनाथ मन्दिर तक की । इस दौरान उन्होने गोला घाट नाला और दुबका नाला को गंगा में अभी भी गिरते देखा तो उनका पारा चढ गया। उन्होने दोनो नालों को टैप करने के निर्देश दिये । वैसे कानपुर जलनिगम के महा प्रबंधक ने बताया है कि पिछले वर्षो में 16 बडे नाले गंगा में गन्दगी गिराते थे जिनमें से 11 को नमामि गंगा परियोजना के तहत पूरी तरह से टैप कर दिया गया है। 5 नालों को अस्थाई रूप से प्रवेश बिन्दु के पास एक सम्पवैल बनाकर और फिर मोटर पम्पों द्वारा अपशिष्ट जल को पास के सीवेज पम्पिंग स्टेशन पर पम्प करके टैप किया गया है।
मण्डलायुक्त डा0 राजशेखर ने प्रत्येक नाला के लिये एक जूनियर इंजीनियर की तैनाती का भी निर्देश दिया जिन्हें रोजाना साइट पर जाकर देखरेख करने और कमी को तत्काल ठीक कराने का टास्क सौंपा जायेगा।
गंगा की निगरानी के लिये उन्होने ड्राॅन कैमरे तैनात करने को कहा जो पूरी लम्बाई में उडान भरेगा । सभी घाट और नालों को जीपीएस कोआर्डिनेट्स के जरिये ड्राॅन कैमरे में फीड किया जायेगा जिससे कन्ट्रोल रूम निगरानी कर सके।
कानपुर में बोट क्लब को सबसे आकर्षक स्थान के बतौर विकसित किया जा रहा है। मण्डलायुक्त ने इसकी भी समीक्षा की। इसमें समय समय पर वाटर स्पोर्टस इवेन्ट्स और वाटर शो आयोजित होगें। इसके बगल में वाटनिकल गार्डन तैयार किया जा रहा है।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments